जमशेदपुर का दोमुहानी घाट बना आदर्श, विसर्जन के बाद भी साफ-सुथरी रही स्वर्णरेखा


दोमुहानी घाट बना आदर्श विसर्जन घाट, अकार्बनिक एवं कार्बनिक वस्तुओं को अलग-अलग कर किया गया प्रतिमाओं एवं पूजन सामग्रियों का विसर्जन, आमादेर पुजो – क्लीन इंडिया, ग्रीन फेस्टिवलअभियान को मिला पुजा कमिटियों एवं श्रद्धालुओं का समर्थन

जमशेदपुर, 11-12 अक्टुबर 2016 : विजयादशमी के मौके पर जमशेदपुर में बड़े ही धूमधाम से माँ दुर्गा की प्रतिमाओं का विसर्जन किया गया। जैमपॉट ग्रीन्स ने “आमादेर पुजो- क्लीन इंडिया, ग्रीन फेस्टिवल“ अभियान के माध्यम से जिला प्रशासन एवं जुस्को के साझा प्रयास से दोमुहानी घाट पर विसर्जन से नदी में फैलने वाली गंदगी से बचाने हेतु वृहत अभियान चलाया। विसर्जन के अगली सुबह जहाँ शहर के विभिन्न घाटों पर नदी में भारी मात्रा में पूजन सामग्रीयां एवं प्रतिमाएँ बिखरी हुई नज़र आ रही है, वही दोमुहानी घाट का नज़ारा बिल्कुल अलग है, दोमुहानी घाट पर विसर्जन के बाद भी नदी के पानी में गंदगी नज़र नहीं आ रही है।

दोमुहानी घाट बना आदर्श विसर्जन घाट, नदी में पूजन सामग्रियों को प्रवाहित करने के बजाए घाट पर  एकत्रित कर सैकड़ों श्रद्धालुओं ने लिया नदी को स्वच्छ बनाने के संकल्प :

विजयादशमी के मौके पर प्रतिमाएँ एवं पूजन सामग्री विसर्जित करने हेतु बड़ी संख्या में श्रद्धालुगण नदी घाटों पर आते है। दोमुहानी घाट पर सुबह से ही लोगों को अपनी जीवनदायिनी स्वर्णरेखा को गंदगी से बचाने हेतु लगातार जागरूकता अभियान चलाया गया। जैमपॉट ग्रीन्स के वोलंटियर्स ने लोगों से मिलकर उनसे नदी को प्रदूषण से बचाने के लिए प्रेरित किया। बताया कि भारी मात्रा में पूजन एवं संबन्धित सामग्रियों को नदी में प्रवाहित करने से नदी गंदी होगी, हमे नदी को स्वच्छ रखने का प्रयास कर अपनी जिम्मेवारी निभानी चाहिए। साथ ही बताया गया कि आज दोमुहानी घाट को विसर्जन के मौके पर आदर्श घाट के तौर पर प्रस्तुत करने का प्रयास किया जा रहा है, ताकि इससे प्रेरणा लेकर शहर के दूसरे अन्य घाटों पर भी नदी को गंदा होने से बचाया जा सके। जागरूकता अभियान के तहत लोगों को संबन्धित सामग्रियों को नदी घाट पर ही एकत्रित करने का आग्रह किया गया, ताकि बाद में कार्बनिक एवं अकार्बनिक सामग्रियों को अलग-अलग कर सही निस्तारण किया जा सके। अभियान का समर्थन करते हुये सैकड़ों लोगों ने आवश्यक अनुष्ठानों के बाद सामग्रियों को नदी किनारे ही एकत्रित किया।

अकार्बनिक एवं कार्बनिक सामग्रियों को अलग कर किया गया प्रतिमाओं का विसर्जन, 30 से भी ज्यादा पुजा कमिटियों ने किया अभियान का समर्थन

शाम को सोनारी एवं आस-पास के 30 से ज्यादा पुजा पंडालों से प्रतिमाओं का विसर्जन दोमुहानी घाट पर किया गया। “आमादेर पुजो – क्लीन इंडिया, ग्रीन फेस्टिवल” अभियान” के तहत विभिन्न पुजा पंडाल से आए श्रद्धालुओं से भी नदी को प्रदूषित होने से बचाने की अपील की गयी। सभी से केवल प्रतिमा एवं कलश को ही नदी में विसर्जित करने की अपील की गयी। इसके अलावा प्रतिमा में उपयोग किए गए थर्मोकॉल, प्लास्टिक, कागज से बने सजावटों एवं अन्य पूजन सामग्रियों को अकार्बनिक एवं कार्बनिक के तौर पर अलग-अलग कर विशेष तौर पर घाट पर रखे गए कंटेनर्स में जमा करने की अपील की गयी। इक्के-दुक्के पुजा कमिटियों को छोड़कर ज़्यादातर ने नदी को स्वच्छ रखने के अभियान का समर्थन किया। विसर्जन के बाद बड़ी मात्रा में समग्रियाँ एकत्रित हुई, जिसका निस्तारण जुस्को के द्वारा किया जाएगा।

विसर्जन के दौरान नदी को गंदा होने से बचाने के प्रयास का अनुमंडल पदाधिकारी सूरज कुमार ने की  प्रशंसा :

दोमुहानी घाट को विसर्जन के दौरान गंदगी से बचाकर आदर्श घाट बनाने के लिए चलाये जा रहे अभियान का अनुमंडल पदाधिकारी श्री सूरज कुमार ने काफी सराहना की। उन्होने घाट का दौरा कर श्रद्धालुओं, जैमपॉट ग्रीन्स के वोलन्टियर्स एवं मौके पर उपस्थित सामाजिक प्रतिनिधियों से मिलकर अभियान का जायजा लिया। उन्होने मौके पर विसर्जन करने के लिए आए सत्यम इनक्लैब, सोनारी एवं अन्य पुजा कमेटी प्रतिनिधियों को नदी को स्वच्छ रखने के अभियान का समर्थन करने के लिए उनकी प्रशंसा की। जुस्को के कैप्टन धनंजय मिश्रा ने भी दोमुहानी घाट का दौरा कर अभियान का जायजा लेते हुये प्रयास की सराहना की।

स्थानीय बच्चे भी अभियान से दिखे उत्साहित, सामग्रियों को नदी में जाने से रोकने का किया भरसक प्रयास :

दिन भर चले अभियान को लोगों का अपार समर्थन प्राप्त हुआ। दोमुहानी घाट पर सामान्य रूप से उपस्थित रहने वाले आस-पास की बस्तियों के बच्चे भी अभियान के दौरान उत्साहित दिखे। अभियान से प्रोत्साहित होकर उन्होने भी घाट पर आने-जाने वाले श्रद्धालुओं से सामग्रियों को पानी में नहीं फेंकने के लिए अपील की, साथ ही कचड़ों को पानी में जाने ने बचाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। अभियान के दौरान पर जैमपॉट ग्रीन्स, विश्व हिन्दू परिषद, सिविल डिफेंस के वोलांटियर्स, पुलिस के जवानों एवं गोताखोरों ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। वही अभियान के दौरान तारक दास, अरुण सिंह, तरुण कुमार, प्रसून उपाध्याय एवं अन्य भी उपस्थित थे। 

प्रतिमा विसर्जन से पहले थर्मोकोल, प्लास्टिक एवं कागज से बने सजावट को अलग करते श्रद्धालु

प्रतिमा विसर्जन से पहले थर्मोकोल, प्लास्टिक एवं कागज से बने सजावट को अलग करते श्रद्धालु

नदी को स्वच्छ रखने के प्रयास का समर्थन करने पर पुजा कमेटी प्रतिनिधियों की सराहना करते ढालभूम के अनुमंडल पदाधिकारी सूरज कुमार

नदी को स्वच्छ रखने के प्रयास का समर्थन करने पर पुजा कमेटी प्रतिनिधियों की सराहना करते धालभूम के अनुमंडल पदाधिकारी सूरज कुमार

नदी में पूजन सामग्री प्रवाहित नहीं करने की अपील करते प्रतिनधि

नदी में पूजन सामग्री प्रवाहित नहीं करने की अपील करते प्रतिनधि

तट पर एकत्रित पूजन सामग्री, जिनका निस्तारण जुस्को के द्वारा किया जाएगा

तट पर एकत्रित पूजन सामग्री, जिनका निस्तारण जुस्को के द्वारा किया जाएगा

विशेष तौर पर घाट पर रखे गए कंटेनर्स में जमा अकार्बनिक एवं कार्बनिक सामग्री

विशेष तौर पर घाट पर रखे गए कंटेनर्स में जमा अकार्बनिक एवं कार्बनिक सामग्री

विशेष तौर पर घाट पर रखे गए कंटेनर्स में जमा अकार्बनिक एवं कार्बनिक सामग्री

विशेष तौर पर घाट पर रखे गए कंटेनर्स में जमा अकार्बनिक एवं कार्बनिक सामग्री

रिपोर्ट : तरुण कुमार (9470381724)

What Do you think about this news?

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s