जैमस्ट्रीट में भी धोनी-धोनी


जमशेदपुर, 20 नवम्बर 2016 : अगर आप क्रिकेट के शौकीन है, तब मैचों के दौरान स्टेडियम से लेकर देश के गली-मुहल्लों में गूंजने वाले एक आवाज से जरूर वाकिफ होंगे। जी हाँ, चाहे माही का बल्ला चौके-छक्के उगल रहा हो, या फिर विकेट के पीछे खड़े होकर बिजली की तेजी से किया गया स्टम्पिंग मैच का रुख बदल रहा हो। ऐसे मौकों पर सिर्फ एक ही आवाज़ सुनाई देती है, वो है “धोनी-धोनी”। यह आवाज़ जैमस्ट्रीट का भी हिस्सा बनी, मौका था भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी की फैन स्टोरी “इट्स आल अबाउट माही” के प्रमोशन का।

धोनी पर पॉकेटबुक “इट्स ऑल अबाउट माही” लिखकर शहर में चर्चा बटोर रहे युवा लेखक एवं धोनी के धुर प्रशंसक अंकित पाठक जैमस्ट्रीट के दौरान लोगों को अपनी किताब के बारे में बता रहे थे। अंकित पाठक ने बताया कि “क्रिकेट के प्रति वो हमेशा से दीवानगी महसूस करते रहे है, और वो आप सभी दोस्तों की तरह ही धोनी के जबरदस्त फ़ैन भी है, कप्तान धोनी से हम सभी को जश्न मनाने के बेहिसाब मौके दिये है, इस सभी बातों ने मुझे फ़ैन स्टोरी लिखने के लिए प्रेरित किया।“

मौके पर शहर के मशहूर रेडियो जौकी आर जे प्रसून, आर जे राजीव ने “इट्स ऑल अबाउट माही” लिखने के अनुभवों के बारे में बातचीत की। इन सब के बीच जैमस्ट्रीट में आए हुये जोश से लबरेज युवाओं ने धोनी-धोनी का उदघोष कर मौके को क्रिकेटमियों के लिए और भी खुसनुमा बना दिया। अंकित ने सभी से अपनी पॉकेटबुक “इट्स ऑल अबाउट माही” अवश्य पढ़ने को कहा।

15219631_1118934084894925_2086474093041304517_n

जैमस्ट्रीट के दौरान धोनी की फैनस्टोरी “इट्स ऑल अबाउट माही” के बारे में बताते युवा लेखक अंकित पाठक

धोनी प्रशंसकों की अपनी कहानी है “इट्स ऑल अबाउट माही”, धोनी से जुड़ी ढेर सारी यादों ने किताब लिखने को किया प्रेरित :

धोनी के धुर प्रशंसक अंकित पाठक अपनी किताब “”इट्स ऑल अबाउट माही” के बारे में कहते है कि “वो स्कूल के दिनों से ही धोनी के दिवाने रहे है, धोनी के कैरियर के शुरुआती दिनों में मैंने जमशेदपुर के टेल्को ग्राउंड में उन्हें खेलते हुये देखा था, उस दिन उनके बल्ले से दनादन निकलते छक्के किसी को भी वहाँ रुककर मैच देखने के लिए मजबूर कर रहे थे। फिर उनके बाद धोनी ने जिस तरह से अपने बेहतरीन खेल और कप्तानी की बदौलत भारत का नाम रोशन किया। यह पूरा सफर हम धोनी प्रशंसकों के लिए किसी भी चीज़ से ज्यादा बेशकीमती है, धोनी से जुड़ी ढेर सारी यादों एवं संवेदनाओं ने मुझे यह पुस्तक लिखने के लिए प्रेरित किया। यह धोनी के हर एक फ़ैन की अपनी कहानी है, वो पुस्तक को पढ़ते हुये, खुद को महसूस कर पाएंगे।”

15151136_1202843379761279_344835981_n

अंकित पाठक का साक्षात्कार लेते शहर के लोकप्रिय रेडियो जौकी आर जे राजीव

धोनी के मैनेजर “अरुण पांडे” ने भी “इट्स ऑल अबाउट माही” को किया पसंद :

अंकित बताते है कि “धोनी के मैनेजर एवं बायोपीक फिल्म “एम.एस.धोनी : द अनटोल्ड स्टोरी” के प्रोड्यूसर अरुण पांडे ने भी “इट्स ऑल अबाउट माही” के पोस्ट को रिट्वीट करते हुये पुस्तक को पसंद किया था, जब यह मुझे पता चला, तब यह मेरे लिए सबसे बड़ी खुशी का मौका था, मुझे कुछ भी समझ नहीं आ रहा था कि मैं क्या करूँ, मेरे दोस्त और मेरे जाननेवालों की तरफ से लगातार आती शुभकामनाओं से मैं फुले नहीं समा रहा था।“ आगे अंकित बताते है कि धोनी से मिलना उनका सपना है, उन्हें पूरी आशा है कि उनके पुस्तक की जानकारी जल्दी ही धोनी तक पहुंचेगी, और वो धोनी से मिलकर उन्हें उनके प्रशंसकों की कहानी भेंट कर सकेंगे, धोनी से मिलना उनके जीवन का सबसे बड़ा सपना है।” वर्तमान में अंकित दिल्ली स्थित एक बहुराष्ट्रीय कंपनी में अकाउंट मैनेजर के पद पर कार्यरत है।

tweet-of-arun-pandey

धोनी के मैनेजर “अरुण पांडे” का रिट्वीट

किताब में भारतीय क्रिकेट इतिहास के स्वर्णिम पलों का क्रिकेटप्रेमियों के नजरिये से है चित्रण :

“इट्स ऑल अबाउट माही” की शुरुआत पाकिस्तान के खिलाफ विशाखपट्नम में धोनी के द्वारा खेली गयी 148 रनों की आतिशी पारी से होती है। उस पारी के माध्यम से भारतीय क्रिकेट में नए सितारे का जन्म हुआ था, तब विकेटकीपर बल्लेबाज धोनी से उस तरह के बल्लेबाजी की उम्मीद कोई नहीं कर रहा था। सभी के जुबान पर चिरप्रतिद्वंदी पाकिस्तान के खिलाफ खेली गयी इस शानदार पारी की चर्चा थी, लेकिन तबतक ज़्यादातर लोग धोनी से अंजान ही थे। ठीक उसी समय जमशेदपुर टेल्को के गुलमोहर स्कूल में पढ़नेवाले गौरव और उसके दोस्त स्कूल के समय मैच का हाल जानने को बेताब थे। जैसे ही मालूम चला की कोई धोनी है जिसने कमाल की पारी खेली है, यह सुनते ही गौरव ने उसे एकदम से पहचान लिया, क्यूंकी उसने धोनी को स्कूल के पास ही के स्टेडियम में छक्के लगाते एवं विकेट के एकदम पास खड़े होकर विकेटकीपपिंग करते हुये देखा था। गौरव बहुत ही गर्वन्वित महसूस कर रहा था, सब कुछ उसके जेहन में अचानक से ताज़ा हो गया।

उसके दो साल बाद धोनी भारतीय टीम के एक प्रमुख क्रिकेटर बन चुके थे। जयपुर में श्रीलंका के खिलाफ नाबाद 183 रनों की पारी, अनोखे हेलिकॉप्टर शॉट्स, मैच फिनिशिंग छक्के अब धोनी की पहचान बन चुके थे। पाकिस्तान के राष्ट्रपति जनरल परवेज़ मुसर्र्फ़ के द्वारा उनके लंबे बालों की तारीफ, यह सब धोनी के स्टारडम में चार चाँद लगा रहे थे। 2007 के विश्व कप में भारत के बेहद निराशाजनक प्रदर्शन के बाद भारतीय क्रिकेट में कुछ भी ठीक नहीं चल रहा था। राहुल द्रविड़ के कप्तानी छोड़ने के बाद धोनी के नेतृत्व में भारतीय टीम ट्वेंटी-ट्वेंटी वर्ल्ड कप खेलने गयी। 2007 के 20-20 के विश्व कप जीतने से लेकर 2011 के 50 ओवर के विश्व कप जीतने की पूरी कहानी किताब में प्रसंशकों के नज़रिये से बेहद ही रोचक तरीके से लिखी गयी है। दोनों ही विश्व कपों के सभी रोमांचक पलों का “इट्स ऑल अबाउट माही” में उल्लेख किया गया है। जिसे पढ़कर हर एक अविस्मरणीय पल फिर से तरोताज़ा हो जाएंगे।

भारत के 2007 एवं 2011 में दो बार विश्वविजेता बनने के बीच प्रशंसक गौरव 12वीं के बाद अपनी उच्च शिक्षा  पूरी कर रहा होता है। इस बीच धोनी की बढ़ती लोकप्रियता, कॉलेज के धोनी विरोधियों से लोहा लेना, क्रिकेट को नापसंद करने वाली गौरव की प्रेमिका बरखा को क्रिकेट के नजदीक लाना, एक कार्यक्रम में गौरव का धोनी से मिलने के लिए असफल संघर्ष करना जैसी कई रोचक बिन्दु “इट्स ऑल अबाउट माही” को और भी रोचक बनाते है।

ankit-with-his-book-its-all-about-mahi-1

धोनी की फ़ैन स्टोरी “इट्स ऑल अबाउट माही”

प्रसंशकों के बीच “इट्स ऑल अबाउट माही” की मांग जोरों पर :

धोनी प्रशंसकों के बीच “इट्स ऑल अबाउट माही” को बहुत ही पसंद किया जा रहा है। 55 पृष्ठो में किताब को इस तरह से लिखा गया है कि छोटे सफर के दौरान भी घंटे भर से भी कम समय में पूरी किताब पढ़ी जा सकती है। पुस्तक के प्रथम दो संस्करण अमेज़न और पुस्तक मंडी ऑनलाइन स्टोर के माध्यम से एक महीने के अंदर ही खत्म हो चुके है। इसके अलावा अंकित को धोनी के कई लोकप्रिय फेसबूक फ़ैन पेज के आमंत्रण पर लाइव आकर प्रशंसकों के सवालों एवं “इट्स ऑल अबाउट माही” लिखने कि कहानी सुनाने का मौका मिल चुका है। जिसे हज़ारों दर्शकों ने पसंद किया।

15181485_1117269108394756_8575545561518616952_n

जैमस्ट्रीट के दौरान “इट्स ऑल अबाउट माही” कोर्नर पर लेखक अंकित पाठक के साथ प्रशंसक

आप सभी लिंक http://www.amazon.in/dp/9385137719 पर जाकर “इट्स आल अबाउट माही” की अपनी प्रति प्राप्त कर सकते है। अंकित के पिता मनोज पाठक एक व्यवसायी है। वही अंकित ने अपनी इस रचना को अपनी छोटी बहन अंकिता पाठक को समर्पित किया है।

14241538_1139157799463171_3089434132289129359_o

जमशेदपुर के एक क्रिकेट मैदान पर “इट्स ऑल अबाउट माही” के साथ एक क्रिकेटप्रेमी

रिपोर्ट : तरुण कुमार (9470381724)

What Do you think about this news?

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

w

Connecting to %s