कौन बनेगा करोड़पति में “कोटि की चोटी” पर पहुँचते जमशेदपुरिया


Written by Shweta Modi

जमशेदपुर में सिर्फ लोहे का काम नहीं होता, बल्कि यहाँ के लोगों का जज़्बा भी फौलादी है। इसका ताज़ा प्रमाण रहा, शहर के होनहार युवा अभिषेक प्रसाद का “कौन बनेगा करोड़पति” शो के हॉट सीट तक पहुंचना। गौरतलब है कि कौन बनेगा करोड़पति के इस सीज़न का यह आख़िरी सप्ताह चल रहा है। आख़िरी सप्ताह की शुरुआत में जैसी ही सदी के महानायक, अमिताभ बच्चन ने, अभिषेक का परिचय कराते हैं हुए बताया कि वे जमशेदपुर, झारखण्ड से हैं, तो सिर्फ जमशेदपुर के दर्शक ही नहीं, बल्कि यक़ीनन पूरे झारखण्ड के दर्शकों का उत्साह बढ़ा होगा। इस शो में अभिषेक ने 50 लाख रूपए की बड़ी राशि जीती।

पिछले सीजन की एक करोड़पति भी एक जमशेदपुरिया

अभिषेक के अलावा जमशेदपुर की ही, अनामिका मजूमदार ने बीते साल, यानी 2017 में केबीसी में 1 करोड़ रूपए जीते थे। जिसके बाद न केवल अनामिका मजूमदार, बल्कि अपना जमशेदपुर भी देश के तमाम अख़बारों में अपनी जगह बना सका। अभिषेक और अनामिका वो दो नाम हैं जिन्होंने केबीसी के हॉट सीट पर पहुंचकर, शहर की साख़ को एक नया आयाम दिया। दिलचस्प बात ये रही कि शहर के दोनों ही लोगों ने, न केवल हॉट सीट पर पहुंचकर शहर का मान बढ़ाया, बल्कि ये दोनों ही, एक करोड़ के सवाल तक पहुंचे। इससे ज़ाहिर होता है कि हमारे शहर में खनिज के अलावा, नायाब लोगों की भी खान है, जो अपनी प्रतिभा से चर्चाओं में रहे और इस बात को हमारे जमशेदपुरिया, डंके की चोट पर कह सकते हैं।

अभिषेक और अनामिका फ़िलहाल वो दो चेहरे है, जो चर्चा में रहे। उनके अलावा शहर के लोगों की एक लंबी फेहरिस्त है, जो लगातार “कौन बनेगा करोड़पति” में जाने के लिए मेहनत कर रहे हैं। हालांकि इस सीजन में उन्हें सफलता नहीं मिल सकी, क्योंकि कार्यक्रम अब समाप्ति की ओर है। शहर के लोगों को इस बात का मलाल तो है, लेकिन इससे उनके हौंसलों में कोई कमी नहीं आएगी। ये बात खुद उन लोगों ने जमशेदपुरटेन्मेंट से साझा कि जो लगातार केबीसी में जाने की कोशिश कर रहे हैं।

जुगसलाई का जज़्बा

जुगसलाई की रहने वाली अनीता बताती हैं, कि वो बीते 3 साल से केबीसी में जाने की कोशिश कर रही हैं। उन्हें अबतक इसमें सफलता नहीं मिली, लेकिन फिर भी वो अपनी कोशिशों को लगातार जारी रखना चाहती हैं। वे रोज़ाना अखबार पढ़ती हैं और ख़बरों और सामान्य ज्ञान से खुद को अपडेट रखती हैं। अनीता ने कहा, इस बार भी किस्मत ने उनका साथ नहीं दिया, लेकिन अगले सीज़न में वे फिर से हॉट सीट तक पहुंचने की कोशिश करेंगी।

बिस्टुपुर के अनिल की दीवानगी

वहीं बिस्टुपुर में प्राइवेट जॉब करने वाले अनिल कुमार कहते हैं कि उन्हें केबीसी का प्रोग्राम बेहद पसन्द है। उनकी तो इच्छा होती है कि यह कार्यक्रम साल भर यूँ ही चलता रहे, ताकि ज़्यादा से ज़्यादा लोगों को अपनी ज़िन्दगी संवारने का मौका मिल सके। अनिल बताते हैं कि वे सोमवार से शुक्रवार तक केबीसी देखते हैं, फिर शनिवार और रविवार के आने का उन्हें मलाल भी होता है, क्योंकि इन इन दो दिन केबीसी का कार्यक्रम प्रसारित नहीं होता हैं।हालांकि वो सोमवार के इंतज़ार में होते हैं और उन्हें उम्मीद है कि एक दिन उनका नंबर भी केबीसी में ज़रूर आएगा। ऐसे ही, न जाने कितने सपने बसते हैं इस शहर के लोगों की आँखों में, जो मानो दुनिया से पूछते हों, “कब तक रोकोगे?”

What Do you think about this news?

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s