विश्व माहवारी स्वच्छता दिवस पर साकची में इट्स वीमेन प्राइड कार्यक्रम आयोजित, 150 से ज्यादा गांव से आये बच्चे


*विश्व माहवारी स्वच्छता दिवस पर इट्स वीमेन प्राइड कार्यक्रम आयोजित*
*लोगों ने माहवारी पर की खुलकर चर्चा, कैंसर सर्वाइवर्स ने भी साझा की अपनी कहानी*
*निश्चय के बाल स्वच्छता दूत बन रहे गांवो में माहवारी स्वच्छता के संदेहवाहक*
*पैडबैंक : ए बिगिनिंग ऑफ चेंज” ( बदलाव की एक शुरूआत ) एवम माहवारी जागरूकता पर खास न्यूसलेटर #ThePeriodTalk का हुआ विमोचन*
*निश्चय फाउंडेशन ने मनाई दूसरी वर्षगांठ*

28 मई 2019 : विश्व माहवारी स्वच्छता दिवस के मौके पर निश्चय फाउंडेशन ने साकची स्थित होटल कनेलाइट में “इटस वूमेन प्राइड” कार्यक्रम का आयोजन किया। कार्यक्रम के दौरान बच्चों ने नुक्कड़ नाटक “सोच बदलो” का मंचन कर बताया कि उनके विद्यालय में चल रहे पैडबैंक के माध्यम से वो माहवारी के संबंध में जागरूक हुए है, अब हम बच्चे गांवो में जाकर आस-पड़ोस के घरों में महिलाओं को स्वच्छता के बारे में उन्हें जागरूक करते है। अब विद्यालय में लड़के भी इस संबंध में धीरे-धीरे जागरूक होना शुरु हो गए है। अब समय बदल रहा है, सभी को माहवारी के प्रति अपनी सोच में बदलाव लाने की जरूरत है, अब हमारे गांव में यह शुरुआत हो चुकी है।” वही कार्यक्रम के दौरान रिलीज की गयी डाक्यूमेंट्री ” पैडबैंक : ए बिगिनिंग ऑफ चेंज” ( बदलाव की एक शुरूआत ) में यह प्रमुखता से दिखलाया गया की बाल माहवारी स्वच्छता दूतों के प्रयासों से किस तरह गांव में जागरूकता फैल रही है। गांव के लोग भी बच्चों के प्रयास की सराहना कर रहे है।”

माहवारी के संबंध में समाज में फैली चुप्पी तोड़ने हेतु “इट्स वीमेन प्राइड” कार्यक्रम के दौरान पैनल डिस्कसन व खुले सत्र का आयोजन किया गया। पैनल डिस्कशन में चिकित्सक, शिक्षाविद, किशोर-किशोरियां सामाजिक कार्यकर्ता एवम अधिकारियों ने भाग लिया। पीरियड्स के दिनों में अचार छूना मना होता है, किचन में जाना मना होता है, पूजा करने से मना किया जाता है, क्या यह सही है? छात्रा के सवाल पर पूर्वी घोष ने कहा कि अब मंदिरों में महिलाएं पुरोहित की भूमिका भी निभाने लगी है, तो अब ऐसी बातों को केवल मिथक ही माना जाना चाहिये।

वरिष्ठ पत्रकार जयप्रकाश राय ने कहा की समाज में वर्जित समझे जाने वाले विषय पर कार्य किया जाना बेहद आवश्यक है। जमशेदपुर में इस अभियान की बेहद आवश्यकता थी। निश्चय की पहल से मुद्दे को जिले में बेहद बल मिला है। इस दौरान जमशेदपुर छात्रा आरती शर्मा ने बताया की उसने जब पहली बार पीरियड्स हुए थे, उस समय मैं बेहद डर गयी थी, लेकिन जब मैंने इसके बारे में मां को बताया तो वह बेहद खुश हो गयी, घर में उत्सव सा माहौल हो गया। दरअसल माहवारी के संबंध में बात करने से झिझका जाए, ऐसी कोई बात ही नहीं। पूर्वी सिंहभूम जिले की बाल कल्याण समिति की अध्यक्षा पुष्पा तिर्की ने बताया की माहवारी जैसे मुद्दे पर बच्चों को इतने आत्मविस्वास के साथ बात करते देखना बेहद सुखद है। संस्था का प्रयास बेहद सराहनीय है। बाल संरक्षण अधिकारी डॉ चंचल ने बताया की इस तरह के मंच पर माहवारी के मुद्दे पर खुलकर बातचीत होना बेहद अहम है। इस दौरान कैंसर विशेषज्ञ डॉ० अमित, नीलम शर्मा एवम कैंसर सर्वाइवर ऋतु रूंगटा ने अपने अनुभव रखे। बताया की महिलाओं में सवाईकल कैंसर जैसी बीमारियों का बड़ा कारण माहवारी जैसी चीज़ों के प्रति जागरुकता ना होना है। ओपन टॉक का संचालन करीम सिटी कॉलेज की मास कम्युनिकेशन फैकल्टी निदा जकारिया ने किया।

कार्यक्रम के दौरान माहवारी के मुद्दे पर आधारित ऑनलाइन न्यूजलेटर #ThePeriodTalk का विमोचन किया गया। न्यूज़लेटर माहवारी से संबंधित प्रमुख खबरों एवम पब्लिक ओपिनियन पर आधारित है।

कार्यक्रम में 150 से ज्यादा गांव से आये बच्चे, युवा एवम शहर के गणमान्य लोग उपस्थित थे। मौके पर आरका जैन यूनिवर्सिटी के छात्र-छात्राओं ने नुक्कड़ नाटक “चुप्पी तोड़ो” प्रस्तुत कर अपनी बात खुलकर रखने, समाज में बेहतर माहौल बनाने का संदेश दिया। कार्यक्रम में अरुण कुमार, सुदीप्ता घोष, अरुण तिवारी, अरुण बाकरेवाल, सुनील मिश्रा, डॉ हीरामनी हेम्ब्रम, प्रभा जायसवाल, उषा महतो, रश्मि शर्मा एवम अन्य प्रमुख रूप से उपस्थित थे। कार्यक्रम के आयोजन में निश्चय फाउंडेशन की पूनम महानन्द, तरुण कुमार, डॉ पोम्पी सेनगुप्ता, दीपा पॉल, सूरज बाग, संतोष शर्मा, संतोष सिंह एवम अन्य का महत्वपूर्ण योगदान रहा। कार्यक्रम के आयोजन में होटल केनेलाइट, एडुनेशन, हातील फर्नीचर, फ़ोर्स सिक्योरिटीज, वीपीआरए, जमशेदपुरटेन्मेंटडॉटकॉम व अन्य संस्थाओं का महत्वपूर्ण योगदान रहा।

What Do you think about this news?

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s