Three days after a boy from Jamshedpur writes to PMO, Indian Railways announce to convert coaches into COVID-19 ward


WhatsApp Image 2020-03-30 at 8.41.25 AM

While Jharkhand is still untouched with any positive cases of the Wuhan Corona Virus. It is important for all of us to stay indoors and keep it that way. However, it is also important to contribute in any way that we can, so a civil engineer from our city came up with a plan to convert the existing railway coaches into isolation wards for patients. He submitted his plan to the PMO and it couldn’t be just a coincident that in 3 days after his submission the Indian Railways announced conversion of coaches into special isolation wards. पढ़ना जारी रखें “Three days after a boy from Jamshedpur writes to PMO, Indian Railways announce to convert coaches into COVID-19 ward”

All you Need to know about the 1500cr. Donations by Tata Group for Corona Pandemic


  • Apart from 500 crore pledged by Tata Trusts earlier in the day, Tata Sons announced an additional 1,000 crore support
  • Tata Sons Chairman N. Chandrasekaran said the group is also bringing in necessary ventilators and are gearing up to also manufacture the same soon in India

“Urgent emergency resources need to be deployed to cope with the needs of fighting the COVID 19 crisis, which is one of the toughest challenges the human race will face,” Ratan Tata said in his post. Tata Sons, the holding firm of the Tata group companies, announced an additional 1,000 crore support towards Covid-19 and related activities over and above 500 crore pledged by Tata Trusts earlier in the day.


The funds will be utilized for providing protective equipment to medical personnel, respiratory systems for treating increasing cases, testing kits to ramp up testing in the country and setting up treatment facilities for those who have already caught the virus. The group has also said that it will train health workers and the general public to empower them against coronavirus.
The number of the novel coronavirus, or Covid-19, cases had crossed 900 in India with the death toll rising to 19, according to the Union Health Ministry.

26 मार्च तक झारखंड का कोरोनॉ रिपोर्ट कार्ड – शहर वाइज देखें


अब तक कोरोनावायरस पूरे विश्व में 414197 लोगों को संक्रमित कर चुका है। इसके अलावा अभी तक 18440 लोगों ने अपनी जान गवाई हैं। भारत में अभी तक 649 लोग इसके संक्रमण में आ चुके हैं और 13 लोगों ने 25 तारीख तक अपनी जान गवाई है। झारखंड की अगर बात करें तो अभी तक यहां पर एक भी पॉजिटिव केस नहीं मिला है और कुल सैंपल जो 137 है उसमें से 117 लोगों के जो रिपोर्ट है वह नेगेटिव आए हैं। अभी भी 20 सैंपल की रिपोर्ट का इंतजार है जिसके आने के बाद ही कुछ पता चल पाएगा , अब तक झारखंड सेफ है और उम्मीद है आगे भी रहेगा कृपया आप भी ज्यादा से ज्यादा सहयोग करें घर पर रहे। लॉक डाउन पीरियड का पूरा सपोर्ट करें और सुरक्षित रहे

शहर वाइज रिपोर्ट नीचे देखें

DC ने ट्वीट किया आलू-प्याज़ 25 रुपये kg, जानिए किन जगहों पे मिलेंगे


कोरोनॉ में तालाबंदी के बीच बाजार में बढ़े कालाबाज़ारी और दुकानदारों की मनमानी रोकने के लिए डीसी श्री रवि शंकर शुक्ला ने ट्वीट कर जानकारी दी कि अब आलू प्याज़ 25 और चावल 26/- तो आटा 28-30/- रुपये बेचे जाएंगे, साथ ही जिन जगहों पर ये बेचे जाएंगे उन जन सुविधा केंद्रों के एड्रेस भी शेयर किए

ट्वीट देखिए

कृपया सबके साथ शेयर करे और किसी प्रकार की असुविधा होने पर कृपया हमारी टीम को मैसेज कर कर इक़तला करे

लॉक डाउन के साए में पूरा भारत


क्या होता है लॉकडाउन?

लॉकडाउन एक इमर्जेंसी व्यवस्था होती है। अगर किसी क्षेत्र में लॉकडाउन हो जाता है तो उस क्षेत्र के लोगों को घरों से निकलने की अनुमति नहीं होती है। जीवन के लिए आवश्यक चीजों के लिए ही बाहर निकलने की अनुमति होती है। अगर किसी को दवा या अनाज की जरूरत है तो बाहर जा सकता है या फिर अस्पताल और बैंक के काम के लिए अनुमति मिल सकती है। छोटे बच्चों और बुजुर्गों की देखभाल के काम से भी बाहर निकलने की अनुमति मिल सती है।

क्यों करते हैं लॉकडाउन?


किसी तरह के खतरे से इंसान और किसी इलाके को बचाने के लिए लॉकडाउन किया जाता है। जैसे कोरोना के संक्रमण को लेकर कई देशों में किया गया है। कोरोनावायरस का संक्रमण एक-दूसरे इंसान में न हो इसके लिए जरूरी है कि लोग घरों से बाहर कम निकले। बाहर निकलने की स्थिति में संक्रमण का खतरा बढ़ जाएगा। इसलिए कुछ देशों में लॉकडाउन जैसी स्थिति हो गई है।

किन देशों में है लॉकडाउन


चीन, डेनमार्क, अल सलवाडोर, फ्रांस, आयरलैंड, इटली, न्यूजीलैंड, पोलैंड और स्पेन में लॉकडाउन जैसी स्थिति है। चूंकि चीन में ही सबसे पहले कोरोनावायरस संक्रमण का मामला सामने आया था, इसलिए सबसे पहले वहां लॉकडाउन किया गया। इटली में मामला गंभीर होने के बाद वहां के प्रधानमंत्री ने पूरे देश को लॉकडाउन कर दिया। उसके बाद स्पेन और फ्रांस ने भी कोरोना संक्रमण रोकने के लिए यही कदम उठाया।

रिपोर्ट- अम्बाती रोहित

विश्व की ऊंची चोटियों पर फतह करने वाली प्रेमलता अग्रवाल जब साकची बाजार में गंदगी साफ करने पहुंची


रविवार को जब साकची सब्जी बाजार के अंदर हर कोई खरीदारी करने में व्यस्त था तो इस बीच एक महिला की आवाज़ आयी वहां की गंदगी एक बोर में उठा के डालते हुए और एक सब्जी वालो से बात करते हुए की ‘ ऐसी गंदगी करोगे भैया तो दुकान लगाने नही देंगे यहां’ ये महिला और कोई नही बल्कि विश्व के 7 ऊंची चोटियों पर फतह हासिल करने वाली हमारी सिटी की प्रेमलता अग्रवाल थी, जो अपनी पूरे टीम के साथ गौरव आनंद के नेतृत्व में स्वच्छता पुकारे नाम के अभियान में कंधे से कंधा मिलाकर चल रही थी, ये देखना सही में आश्चर्यचकित करने वाला था कि पद्मश्री श्री प्रेमलता अग्रवाल अपने शहर के प्रति इतनी जिम्मेवार है कि उन्होंने तस सोचा न मस और ज़मीन पे फेंके गए साग सब्जियों के अवशेष को बोरी में डाल कर साइड करने लगी!

गौरतलब है कि रविवार को स्वच्छता पुकारे की टीम स्वच्छता के प्रति अवेर्नेस फैलाने साकची बाजार पहुंची थी और इससे पहले ये टीम स्वर्णरेखा के गंदगी साफ करने के पहल को लेकर टाटा स्टील के चेयरमैन तक से शाबाशी पा चुकी है

वीडियो देखें

वीडियो या न्यूज़ अच्छा लगे तो सबके साथ शेयर करे और जिम्मेवार नागरिक बनते हुए शहर के लिए काम आए

बड़ी खबर : झारखण्ड के सभी स्कुल, सिनेमा हॉल 31 मार्च तक के लिए बंद करने का हेल्थ मिनिस्टर ने जारी किया नोटिस


दुनिया और देश के अलग अलग हिस्सों में कोरोना वायरस के असर को देखते हुए जहां शिक्षा संस्थानों, जिम, किसी भी आयोजनों और सिनेमा हॉल को बंद रखा जा रहा है अब झारखंड में भी इसे लागू करने की तैयारी करी जा रही है, स्वास्थ्य मंत्री श्री बन्ना गुप्ता द्वारा इसके संबंध में एक पत्र भी मुख्यमंत्री को लिखा जा चुका है, जिसपे कल शाम 4 बजे डिजास्टर मैनजमेंट मेडिकल सर्विस और जमशेदपुर के हॉस्पिटल्स के संयुक्त बैठक के बाद लागू में लाया जा सकता है

Report : Tanweer ahsan

जमशेदपुर की फ़िल्म को इंटरनेशनल प्लेटफार्म


लौहनगरी वैसे तो स्टील के लिए जानी जाती। मगर इनदिनों यहां के कलाकारों कला के माध्यम से जमशेदपुर का नाम ऊँचा कर रहे हैं.. यूट्यूब का मंच मिलने के कारण यहां फिल्म मेकर तेजी से बढ़े हैं और उनमें एक टीम है शॉर्ट स्टॉक कि टीम जो 5 साल से काम करती हुई आ रहीं थीं अब यूट्यूब से ओटीटी( ऑनलाइन प्लैटफॉर्म तक पहुच चुकी है ..निर्देशक अभिषेक कुमार द्वारा बनाई गयी क्राइम थ्रिलर फिल्म मत्सर मुंबई स्थित कंपनी Gemplex पर रिलीज होने जा रहीं हैं.. फ़िल्म के सेटेलाइट राइट्स Gemplex ने लिया है जो इस फिल्म को भारत के साथ साथ ये 9 अन्य देशों में रिलीज करने जा रहीं है ..फिल्म का स्क्रिप प्रीतम कुमार तथा सिनेमाटोग्राफ़ी विश्वजीत द्वारा कि गयी है.. फिल्म के मुख्य भूमिका मे प्रेम शर्मा राजीव सिंह प्राची प्रीयम और एमएस आलम है . फ़िल्म में सब निर्देशक का काम राज सोनी और पंकज अग्रवाल ने किया है। . पूरी फिल्म झारखंड में फ़िल्माया गया है फिल्म भाषा को और देसीपन फिल्म को काफी अलग दर्शा रहा है और यही कारण है लोगों को फिल्म आकर्षित कर रहीं है..

Trailer देखिए

अफवाहों की आग में झुलसने से बचा अपना जमशेदपुर


सोशल मीडिया में फैली अफवाह की TMH में कोरोना ग्रसित मरीज का इलाज चल रहा है जो सरासर गलत साबित हुई, इस खबर का खंडन टाटा स्टील के तरफ से जारी किए गए सर्कुलर में किया गया है

जमशेदपुरटेंमेंट ओर से अपील है कि बिना सोचे समझे कोई भी जानकारी सोशल मीडिया में पोस्ट कर अफवाहों को तूल ना दे जिम्मेदार नागरिक होने परिचय दे

रिपोर्ट- Ambati Rohit

अबकी बार टूटा या खराब चापाकल दिखे तो ये करे


गर्मी आने वाली है

गर्मी आने वाली है और ग्लोबल वार्मिंग को देखते हुए ये लगता है कि इस बार की गर्मी बेहद्द शिद्दत वाली होगी.

आपको पानी आसानी से मिल जाती है, सबको नही.. गर्मी आ रही है आइए, कुछ ऐसा करे जिनसे इनकी मुश्किल थोड़ी कम हो जाए

नथिंग विदआउट नेचर द्वारा एक फल की गयी है जो काफी सराहनीय है.

आइए जाने कैसे करे इनकी मदद ?

पुरे पूर्वी सिंहभूम और जमशेदपुर में आपके आस पास कोई ऐसा चापाकल (Hand-Pump) हो, जो टूट गया हो या उसमे कोई अन्य खराबी हो, उसका डिटेल हमे दे हम उस चापाकल को बनवाने में सहायता करेंगे

कोई ऐसी जगह जहा चापाकल ना होने के कारण साफ़ पानी लाने के लिए लोगो को काफी दूर जाना पड़ता है, उन जगहों का भी नाम दे सकते है जहाँ नए सिरे से चापाकल लगवाया जा सके

साफ़ पानी का हक़ सबको है, आइए हम और आप मिल कर इस गर्मी से पहले कुछ ऐसा करे जिससे यह हक़ उन्हें मिल सके

चापाकल की तस्वीर और उसका पता अपने नाम के साथ व्हाट्सएप्प करे: 7004185261

या अधिक जानकारी के लिए कॉल करे : 7004185261