देशभर के पैडमैन व पैडवीमेंस ने साझा किये अपने कार्यों का अनुभव


जमशेदपुर, 28 मई 2020 : कोविड 19 वैश्विक महामारी ने दुनिया भर में लोगों के काम करने को तरीक़े को बदल दिया है। लेकिन हर वक्त बेहतर करने की संभावना बनी रहती हैं, इसका मिशाल रहा निश्चय संस्था के द्वारा अंतराष्ट्रीय माहवारी दिवस के मौके पर ऑनलाइन आयोजित इट्स वीमेंस प्राइड 3.0 कार्यक्रम। कार्यक्रम में बतौर मुख्य वक्ता ऑस्करवीमेन स्नेहा ने बताया की “माहवारी और महिलाओं के महत्वपूर्ण मुद्दे पर लोगों की सोच ने उन्हें उत्तरप्रदेश के हापुड़ के छोटे से गांव में कार्य करने को प्रेरित किया, और उनके द्वारा किये गए कार्य ने उन्हें लॉस एंजेल्स तक का सफर तय करवाया, यह सफर बेहद भावनात्मक था। ऑस्कर पुरस्कार जीतने के बाद जब वह गांव वापस लौटी, तब तक समूची कहानी एक बड़ा बदलाव लेकर आ चुका था।”

स्नेहा जी के अलावा बरेली के पैडमैन चित्रांश सक्सेना, गिरिडीह के पैडमैन सोमनाथ, रांची की पैडवीमेन रश्मि साहा, देश के पहले ट्राइबल पैडमैन बैद्यनाथ हांसदा, बहरागोड़ा के पैडमैन सूरज चक्रवर्ती, घाटशिला की पैडवीमेन अंशु कुमारी, महिला मुद्दों पर सक्रिय विशेषज्ञ मालविका शर्मा एवं सोशल कैपैन विशेषज्ञ सुरभि शर्मा व अन्य ने अपने विचार विस्तार से रखे। इसके अलावा महिला व ग्रामीण विषयों पर सक्रिय रहनेवाली पत्रकार रचना प्रियदर्शिनी व नीतू सिंह ने अपने अनुभवो को रखते हुए जमीनी कार्य व राष्ट्रीय परिदृश्य के मुद्दों व संभावनाओं को उजागर किया।

लॉकडाउन के दौरान किशोरियों को सैनिटरी पैड पहुँचाने के अभियान के लिए प्रेरणा बनी किशोरी जसकनडीह गांव की लक्ष्मी मुंडा ने जिले के 4000 से ज्यादा बच्चियों व महिलाओं का प्रतिनिधित्व करते हुए अभियान की उपयोगिता को बताया। इस दौरान छात्रा पूजा महतो ने अपने घर पर पैडबैंक बनाकर आसपास के 50 से ज्यादा सहेलियों की मदद करने की प्रेरक कहानी भी साझा की। इस दौरान लॉकडाउन के मुश्किल समय में बच्चियों व महिलाओं की मदद करने हेतु चलाये गए जनअभियान पर आधारित वृतचित्र “द कैंपेन ऑफ टफ टाइम” भी प्रस्तुत किया गया। बताया गया की लोगों के सहयोग एवं टीम के निःस्वार्थ प्रयास की बदौलत मौजूदा कार्य समूचे देश के लिए प्रेरणा बना।

संस्था निश्चय फाउंडेशन ने अपने तीसरे स्थापना दिवस के मौके पर समाज में बालक-बालिका समानता लाने हेतू प्रोजेक्ट पैडह्युमन्स ( Project #PadHumans) का शुभारंभ किया।

प्रोजेक्ट पैडह्युमन्स ( Project #PadHumans) : कार्यक्रम का ऑनलाइन शुभारंभ करते हुए निश्चय के संस्थापक सचिव तरुण कुमार ने बताया की “माहवारी स्वच्छता का मुद्दा अब केवल महिला या केवल पुरूष का मुद्दा नहीं रहा। लॉकडाउन के समय दर्जनों पुरुष व महिला स्वयंसेवियों ने समय की नजाकत को समझते हुए बच्चियों व महिलाओं तक मदद पहुंचाई। इससे हम समझ सकते है की साझा सहयोग से जमीनी तस्वीर बदली जा सकती है।”

निश्चय का नया मिशन प्रोजेक्ट पैडह्यूमन कोल्हान के 50 गांवो व पंचायतों में अगले दो सालों में जनभागीदारी से माहवारी स्वच्छता के मुद्दे पर निस्वार्थ तरह से काम करने वाले मानवों की टीम तैयार करेगी, जो अपने स्वयंसेवा के माध्यम से बालक-बालिका समानता के मुद्दों की वकालत करेंगे। इस दौरान समुदायिक, सांस्कृतिक व खेल गतिविधियों व रचनात्मकता के माध्यम से बालक-बालिका समानता को लाने का प्रयास किया जाएगा।

बताते चले की संस्था के संस्थापक सचिव तरुण कुमार के बालक-बालिका समानता के सोच पर आधारित मिक्सजेंडर क्रिकेट टूर्नामेन्ट का चयन क्रिकेट के भगवान सचिन तेंदुलकर ने देश की सबसे बेहतरीन खेल कहानियों के तौर पर किया था।

माहवारी स्वच्छता दिवस के मौके पर आयोजित ऑनलाइन कार्यक्रम में देश भर से 100 से ज्यादा गणमान्य लोगों ने शिरकत की। कार्यक्रम के आयोजन में संस्था की पूनम महानंद, डॉ पोम्पी सेनगुप्ता, संतोष शर्मा व अन्य ने महत्वपूर्ण योगदान दिया।

द कैंपेन ऑफ टफ टाइम :https://www.youtube.com/watch?v=7bglOkEGEgM

This man from Jamshedpur find the best use of Lockdown, Painted his home.


Nagesh Choudhury of our Jamshedpur city is popularly known as a corporate photographer who is associated with the corporate communications of Tata Motors Jamshedpur plant. Very few & rest senior artists of the town knows that he is actually a qualified artist & has a long fan followers across globe whose art works has reached almost every corner of the country & globe. In short he is an internationally acclaimed artist. In the virtual world he is popular by ‘Fankaar Nagesh’.
In this lockdown, where the entire world is working on COVID 19 vaccines & is taking precautionary measures to stay safe from the deadly CORONA virus. Apart from working from as per need Nagesh is busy in his little world using his valuable time in beautifying his small colony ‘Prakash Nagar’ located in the silent corners of the Telco Riverview Colony. He has willingly taken up a huge project to paint his very own campus & paint the wall stretching around 150’ which is roughly 6’ – 11’ high at different levels..

Isn’t it amazing?

All you Need to know about the 1500cr. Donations by Tata Group for Corona Pandemic


  • Apart from 500 crore pledged by Tata Trusts earlier in the day, Tata Sons announced an additional 1,000 crore support
  • Tata Sons Chairman N. Chandrasekaran said the group is also bringing in necessary ventilators and are gearing up to also manufacture the same soon in India

“Urgent emergency resources need to be deployed to cope with the needs of fighting the COVID 19 crisis, which is one of the toughest challenges the human race will face,” Ratan Tata said in his post. Tata Sons, the holding firm of the Tata group companies, announced an additional 1,000 crore support towards Covid-19 and related activities over and above 500 crore pledged by Tata Trusts earlier in the day.


The funds will be utilized for providing protective equipment to medical personnel, respiratory systems for treating increasing cases, testing kits to ramp up testing in the country and setting up treatment facilities for those who have already caught the virus. The group has also said that it will train health workers and the general public to empower them against coronavirus.
The number of the novel coronavirus, or Covid-19, cases had crossed 900 in India with the death toll rising to 19, according to the Union Health Ministry.

26 मार्च तक झारखंड का कोरोनॉ रिपोर्ट कार्ड – शहर वाइज देखें


अब तक कोरोनावायरस पूरे विश्व में 414197 लोगों को संक्रमित कर चुका है। इसके अलावा अभी तक 18440 लोगों ने अपनी जान गवाई हैं। भारत में अभी तक 649 लोग इसके संक्रमण में आ चुके हैं और 13 लोगों ने 25 तारीख तक अपनी जान गवाई है। झारखंड की अगर बात करें तो अभी तक यहां पर एक भी पॉजिटिव केस नहीं मिला है और कुल सैंपल जो 137 है उसमें से 117 लोगों के जो रिपोर्ट है वह नेगेटिव आए हैं। अभी भी 20 सैंपल की रिपोर्ट का इंतजार है जिसके आने के बाद ही कुछ पता चल पाएगा , अब तक झारखंड सेफ है और उम्मीद है आगे भी रहेगा कृपया आप भी ज्यादा से ज्यादा सहयोग करें घर पर रहे। लॉक डाउन पीरियड का पूरा सपोर्ट करें और सुरक्षित रहे

शहर वाइज रिपोर्ट नीचे देखें

DC ने ट्वीट किया आलू-प्याज़ 25 रुपये kg, जानिए किन जगहों पे मिलेंगे


कोरोनॉ में तालाबंदी के बीच बाजार में बढ़े कालाबाज़ारी और दुकानदारों की मनमानी रोकने के लिए डीसी श्री रवि शंकर शुक्ला ने ट्वीट कर जानकारी दी कि अब आलू प्याज़ 25 और चावल 26/- तो आटा 28-30/- रुपये बेचे जाएंगे, साथ ही जिन जगहों पर ये बेचे जाएंगे उन जन सुविधा केंद्रों के एड्रेस भी शेयर किए

ट्वीट देखिए

कृपया सबके साथ शेयर करे और किसी प्रकार की असुविधा होने पर कृपया हमारी टीम को मैसेज कर कर इक़तला करे

विश्व की ऊंची चोटियों पर फतह करने वाली प्रेमलता अग्रवाल जब साकची बाजार में गंदगी साफ करने पहुंची


रविवार को जब साकची सब्जी बाजार के अंदर हर कोई खरीदारी करने में व्यस्त था तो इस बीच एक महिला की आवाज़ आयी वहां की गंदगी एक बोर में उठा के डालते हुए और एक सब्जी वालो से बात करते हुए की ‘ ऐसी गंदगी करोगे भैया तो दुकान लगाने नही देंगे यहां’ ये महिला और कोई नही बल्कि विश्व के 7 ऊंची चोटियों पर फतह हासिल करने वाली हमारी सिटी की प्रेमलता अग्रवाल थी, जो अपनी पूरे टीम के साथ गौरव आनंद के नेतृत्व में स्वच्छता पुकारे नाम के अभियान में कंधे से कंधा मिलाकर चल रही थी, ये देखना सही में आश्चर्यचकित करने वाला था कि पद्मश्री श्री प्रेमलता अग्रवाल अपने शहर के प्रति इतनी जिम्मेवार है कि उन्होंने तस सोचा न मस और ज़मीन पे फेंके गए साग सब्जियों के अवशेष को बोरी में डाल कर साइड करने लगी!

गौरतलब है कि रविवार को स्वच्छता पुकारे की टीम स्वच्छता के प्रति अवेर्नेस फैलाने साकची बाजार पहुंची थी और इससे पहले ये टीम स्वर्णरेखा के गंदगी साफ करने के पहल को लेकर टाटा स्टील के चेयरमैन तक से शाबाशी पा चुकी है

वीडियो देखें

वीडियो या न्यूज़ अच्छा लगे तो सबके साथ शेयर करे और जिम्मेवार नागरिक बनते हुए शहर के लिए काम आए

बड़ी खबर : झारखण्ड के सभी स्कुल, सिनेमा हॉल 31 मार्च तक के लिए बंद करने का हेल्थ मिनिस्टर ने जारी किया नोटिस


दुनिया और देश के अलग अलग हिस्सों में कोरोना वायरस के असर को देखते हुए जहां शिक्षा संस्थानों, जिम, किसी भी आयोजनों और सिनेमा हॉल को बंद रखा जा रहा है अब झारखंड में भी इसे लागू करने की तैयारी करी जा रही है, स्वास्थ्य मंत्री श्री बन्ना गुप्ता द्वारा इसके संबंध में एक पत्र भी मुख्यमंत्री को लिखा जा चुका है, जिसपे कल शाम 4 बजे डिजास्टर मैनजमेंट मेडिकल सर्विस और जमशेदपुर के हॉस्पिटल्स के संयुक्त बैठक के बाद लागू में लाया जा सकता है

Report : Tanweer ahsan

जमशेदपुर की फ़िल्म को इंटरनेशनल प्लेटफार्म


लौहनगरी वैसे तो स्टील के लिए जानी जाती। मगर इनदिनों यहां के कलाकारों कला के माध्यम से जमशेदपुर का नाम ऊँचा कर रहे हैं.. यूट्यूब का मंच मिलने के कारण यहां फिल्म मेकर तेजी से बढ़े हैं और उनमें एक टीम है शॉर्ट स्टॉक कि टीम जो 5 साल से काम करती हुई आ रहीं थीं अब यूट्यूब से ओटीटी( ऑनलाइन प्लैटफॉर्म तक पहुच चुकी है ..निर्देशक अभिषेक कुमार द्वारा बनाई गयी क्राइम थ्रिलर फिल्म मत्सर मुंबई स्थित कंपनी Gemplex पर रिलीज होने जा रहीं हैं.. फ़िल्म के सेटेलाइट राइट्स Gemplex ने लिया है जो इस फिल्म को भारत के साथ साथ ये 9 अन्य देशों में रिलीज करने जा रहीं है ..फिल्म का स्क्रिप प्रीतम कुमार तथा सिनेमाटोग्राफ़ी विश्वजीत द्वारा कि गयी है.. फिल्म के मुख्य भूमिका मे प्रेम शर्मा राजीव सिंह प्राची प्रीयम और एमएस आलम है . फ़िल्म में सब निर्देशक का काम राज सोनी और पंकज अग्रवाल ने किया है। . पूरी फिल्म झारखंड में फ़िल्माया गया है फिल्म भाषा को और देसीपन फिल्म को काफी अलग दर्शा रहा है और यही कारण है लोगों को फिल्म आकर्षित कर रहीं है..

Trailer देखिए

शहर के पांच एटीएम में कार्ड क्लोनिंग की मशीन पकड़ाई, पढ़िए किन एरिया में


शहर के साइबर पुलिस को एक बड़ी सफलता हाथ लगी जब शहर के अलग अलग एरिया के 5 अलग एटीएम में छापा मारकर पुलिस ने कार्ड क्लोनिंग करने वाली मशीन जब्त करी है,

कैसे चुना लगता है आपको?

सक्रिय इन गिरोहों द्वारा शहर के बिना गार्ड वाले एटीएम में हु ब हु दिखाई देने वाले एटीएम कार्ड रीडर फिट कर दिए जाते है, जिसमे ग्राहक के कार्ड डालते ही कार्ड के नंबर और पिन जैसी जानकारी चोरों के हाथ लग जाती है

किन एरिया के एटीएम मशीन में झोल पाया?

कदमा, पारडीह, राजेन्द्र नगर, विजय गार्डन, मानगो, आजादनगर

कैसे सतर्क रहें?

सुनसान एरिया वाले एटीएम मशीन का इस्तेमाल न करे, बाजार या भीड़भाड़ वाले ही एटीएम में जाये, देर रात के बाद एटीएम का इस्तेमाल न करे, शक होने पे तुरंत 100 नंबर पर कॉल करके पुलिस को बताए

रिपोर्ट

जमशेदपुरटेनमेंट

तनवीर अहसन

100 years of TWU, which has seen Netaji Subhas Chandra Bose as its leader in 1928.


It is the first labour union to complete 100 years, an official statement said. TWU, which has seen Netaji Subhas Chandra Bose as its leader in 1928.

To mark the celebration of this 100 year journey, Tata Steel CEO & MD, T V Narendran and Tata Workers’ Union President Mr R Ravi Prasad unveiled the centenary logo of TWU in Jamshedpur. “A 100-year old Union itself is a rarity and we are privileged to celebrate the occasion. Only 11 presidents in the last 100 years reflects the strength and maturity of the Union. For the future of the company and the city, a strong and matured union is required,” Mr Narendran said.Source ET