All you Need to know about the 1500cr. Donations by Tata Group for Corona Pandemic


  • Apart from 500 crore pledged by Tata Trusts earlier in the day, Tata Sons announced an additional 1,000 crore support
  • Tata Sons Chairman N. Chandrasekaran said the group is also bringing in necessary ventilators and are gearing up to also manufacture the same soon in India

“Urgent emergency resources need to be deployed to cope with the needs of fighting the COVID 19 crisis, which is one of the toughest challenges the human race will face,” Ratan Tata said in his post. Tata Sons, the holding firm of the Tata group companies, announced an additional 1,000 crore support towards Covid-19 and related activities over and above 500 crore pledged by Tata Trusts earlier in the day.


The funds will be utilized for providing protective equipment to medical personnel, respiratory systems for treating increasing cases, testing kits to ramp up testing in the country and setting up treatment facilities for those who have already caught the virus. The group has also said that it will train health workers and the general public to empower them against coronavirus.
The number of the novel coronavirus, or Covid-19, cases had crossed 900 in India with the death toll rising to 19, according to the Union Health Ministry.

विश्व की ऊंची चोटियों पर फतह करने वाली प्रेमलता अग्रवाल जब साकची बाजार में गंदगी साफ करने पहुंची


रविवार को जब साकची सब्जी बाजार के अंदर हर कोई खरीदारी करने में व्यस्त था तो इस बीच एक महिला की आवाज़ आयी वहां की गंदगी एक बोर में उठा के डालते हुए और एक सब्जी वालो से बात करते हुए की ‘ ऐसी गंदगी करोगे भैया तो दुकान लगाने नही देंगे यहां’ ये महिला और कोई नही बल्कि विश्व के 7 ऊंची चोटियों पर फतह हासिल करने वाली हमारी सिटी की प्रेमलता अग्रवाल थी, जो अपनी पूरे टीम के साथ गौरव आनंद के नेतृत्व में स्वच्छता पुकारे नाम के अभियान में कंधे से कंधा मिलाकर चल रही थी, ये देखना सही में आश्चर्यचकित करने वाला था कि पद्मश्री श्री प्रेमलता अग्रवाल अपने शहर के प्रति इतनी जिम्मेवार है कि उन्होंने तस सोचा न मस और ज़मीन पे फेंके गए साग सब्जियों के अवशेष को बोरी में डाल कर साइड करने लगी!

गौरतलब है कि रविवार को स्वच्छता पुकारे की टीम स्वच्छता के प्रति अवेर्नेस फैलाने साकची बाजार पहुंची थी और इससे पहले ये टीम स्वर्णरेखा के गंदगी साफ करने के पहल को लेकर टाटा स्टील के चेयरमैन तक से शाबाशी पा चुकी है

वीडियो देखें

वीडियो या न्यूज़ अच्छा लगे तो सबके साथ शेयर करे और जिम्मेवार नागरिक बनते हुए शहर के लिए काम आए

100 years of TWU, which has seen Netaji Subhas Chandra Bose as its leader in 1928.


It is the first labour union to complete 100 years, an official statement said. TWU, which has seen Netaji Subhas Chandra Bose as its leader in 1928.

To mark the celebration of this 100 year journey, Tata Steel CEO & MD, T V Narendran and Tata Workers’ Union President Mr R Ravi Prasad unveiled the centenary logo of TWU in Jamshedpur. “A 100-year old Union itself is a rarity and we are privileged to celebrate the occasion. Only 11 presidents in the last 100 years reflects the strength and maturity of the Union. For the future of the company and the city, a strong and matured union is required,” Mr Narendran said.Source ET

जमशेदपुर से जुड़े क्या आप इन सवालों के जबाब दे पाएंगे?


जमशेदपुर देश के सबसे मस्त जगहों में से एक है, और अभी अभी 10 लाख की आबादी वाले शहरों में इसे देश का स्वच्छ शहर भी घोषित किया गया है पर इस शहर के रहते हुए भी आखिर कितना जानते है आप इस शहर के बारे? तो आइए एक इंटरेस्टिंग क्विज चैलेंज का हिस्सा बनिये और कमेंट कर की क्या आप ये सब जानते थे ? Watch Video and subscribe out channel.

किसने सोचा था कि कैंसर का इलाज जमशेदपुर में हो पाएगा, वो भी मुफ्त में


सरकार ने जो वादा किया, उसे पूरा किया : तनवीर अहसन

TMH में अब आयुष्मान योजना के तहत कैंसर का इलाज निशुल्क होगा

Tata Meharbai Hospital (TMH) में आज से आयुष्मान भारत योजना (PM-JAY) के तहत इलाज शुरू हो गया

सभी रोगियों के लिए कैंसर देखभाल उपचार को सक्षम बनाने के उद्देश्य से एक महत्वपूर्ण विकास में, मेहरबाई टाटा मेमोरियल हॉस्पिटल (MTMH) जमशेदपुर ने आज से आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना (PM-JAY) के तहत लाभार्थियों को स्वीकार करना शुरू कर दिया है।

किसने सोचा था कि कैंसर का इलाज जमशेदपुर में हो पाएगा, वो भी मुफ्त में